Saturday, June 15, 2024
HomeUncategorizedमहिलाओं के सशक्तिकरण का महत्व: समाज में उनके अधिकारों की रक्षा

महिलाओं के सशक्तिकरण का महत्व: समाज में उनके अधिकारों की रक्षा

पाकुड़। झालसा रांची के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकार पाकुड़ के तत्वाधान में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार पाकुड़ बाल कृष्ण तिवारी के निर्देश पर डालसा सचिव शिल्पा मुर्मू के मार्गदर्शन में रहसपुर पंचायत से प्रभात फेरी निकल गई, जो नवादा पंचायत में समाप्त की गई।

साथ ही इसी दौरान पंचायत रहसपुर, मनिरामपुर, नवादा, गांधाईपुर समेत अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में 100 दिवसीय विशेष जागरूकता अभियान सह आउटरीच कार्यक्रम आयोजित की गई। उक्त कार्यक्रम के तहत लगभग 12 सौ लोगों को मानव तस्करी, बाल श्रम, पीड़ित मुआवजा, समेत अन्य कानूनी जानकारी से लोगों को जागरूक की गई। साथ ही महिला सशक्तिकरण पर विशेष रूप से प्रकाश डाला गया।

महिलाओं के अधिकार का महत्व:

महिलाओं के अधिकार को लेकर बात करते हुए पीएलवी कमला राय गांगुली ने कहा कि महिला को सशक्त होना बहुत जरूरी है। महिलाओं को सामाजिक और राजनीतिक अधिकार, वित्तीय सुरक्षा, न्यायिक शक्ति, और वे सारे अधिकार जो पुरुषों को प्राप्त हैं वह मिलना चाहिए। ताकि समाज और देश के विकास में अपनी भागीदारी दे सके।

शिक्षा का महत्व:

मैनुल शेख ने कहा कि कानून द्वारा दी गई अधिकार पाने के लिए महिला को सशक्त बनने के लिए शिक्षित होना जरूरी है। शिक्षा उन्हें चुनौतियों का सामना करने, अपनी पारंपरिक भूमिका का सामना करने और अपने जीवन को सुधारने में सक्षम बनाती है।

समाज में महिलाओं की भूमिका:

पीएलवी पिंकी मंडल ने कहा कि महिलाओं की शिक्षा समाज में उनकी स्थिति बदलने का सबसे शक्तिशाली माध्यम है। पीएलवी सायेम अली और उत्पल मंडल ने बारी बारी से कहा कि यदि महिला सशक्त रहेगी तो समाज में किसी प्रकार के शोषण के विरुद्ध आवाज उठाने, अपने पर हो रहे अत्याचार से बचने, औरों को भी बचा कर एक मजबूत परिवार समाज बनाने में अपनी भूमिका निभा सकती है। ऐसे महिलाओं के हित में कई महत्वपूर्ण जानकारी दी गई।

प्रभात फेरी से समाज को जागरूक करने का आयोजन

पीएलवी याकूब अली एवं नीरज कुमार राउत ने बताया कि झालसा रांची के निर्देशानुसार इस सौ दिवसीय कार्यक्रम के दौरान प्रभात फेरी प्रत्येक मगंलवार को निकली जायेगी। इसी के तहत आज मंगलवार को न्याय के प्रति जागरूक करने हेतु प्रभात फेरी निकाली गई है ताकि समाज के अंतिम व्यक्ति तक न्याय की किरण मिल सके और अपने वाद विवाद को सुलझा सके।

प्रभात फेरी के दौरान कमला राय गांगुली, पिंकी मंडल, सायेम अली, मैनुल शेख, याकूब अली,उत्पल मंडल, नीरज कुमार राउत समेत पंचायत के लोग मौजुद रहे।

Source

Comment box में अपनी राय अवश्य दे....

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments