Saturday, June 15, 2024
Homeराजनीतितनि अपन विधायक भाई के बोले बतियाये त सिखाईं हेमन्त जी ,...

तनि अपन विधायक भाई के बोले बतियाये त सिखाईं हेमन्त जी , अभी त सठियेले नईखे !

 

हेमन्त जी आप हम झारखंड निवासियों के मुखिया हैं।इस नाते राजनैतिक अभिवावक भी ।
निश्चित रूप से आप अपने परिवार में भी तत्काल बड़े हैं , तो अपने परिवार का भी गुरुजी जी के बाद उपमुखिया भी।
आपके अनुज, हाँ छोटे भाई जो दुमका से आपके स्थान पर विधायक हैं , को समझाते नहीं !

ई त आपके पार्टी और परिवार के सम्माने का ढोल बजा रहे हैं।

इधर पेट्रोल छींट कर अपराधी नाबालिग को जिंदा जला रहा है , और वो गंजी जंघिया खरीदने दिल्ली जाते हैं।
कहाँ क्या बोलना है , यह भी…?
खैर ऐसे आदमी की संवेदनहीनता देखकर उन्हें विधायक बनना कहाँ की संवेदनशीलता है ! ये तो आप जरूर आईने के सामने खुद से पूछिएगा।
हे भगवान ! कहाँ गुरुजी , और उनके घर ऐसे ….?
झारखंड की विडंबना है कि , आपका विधायक और विधायक पत्रिनिधि ..!
आश्चर्य नहीं दुख होता है।
अपने कुनबे को संभालिये, और कहीं से बोलने का प्रशिक्षण इन माननीयों को दिलवाइये हजूर।
सिर्फ़ सरकार बचाने में नहीं , गुरुजी का सम्मान भी बचाइए।
और हाँ हमें भी अपने राज्य का निवासी बताने में शर्म न आए, कम से कम इतना तो कीजिए मालिक।
जहाँ विधायक को जो राजनैतिक वातावरण में बचपन से पला-बढ़ा हो उसे बोलते समय स्थान, काल और पात्र का ध्यान न रहे , तो शर्मिंदगी तो हमारी जायज़ है कि नई है ?

Comment box में अपनी राय अवश्य दे....

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments